कीबोर्ड के मुख्य भाग और उनके कार्य

कंप्यूटर के 4 मुख्य भाग होते है, सीपीयू, मॉनिटर, माउस और कीबोर्ड. कीबोर्ड कंप्यूटर का एक मुख्य भाग है. कीबोर्ड को हिंदी में कुंजीपटल कहते है. यह एक इनपुट डिवाइस है, मतलब इसकी मदद से हम कंप्यूटर को सूचना देते है. इसके जरिए कंप्यूटर को हम कंट्रोल कर सकते है. कीबोर्ड के अनेक कार्य होते है, टाइपिंग ये एक मुख्य कार्य है.

कीबोर्ड के बहुत प्रकार होते है. QWERTY मैकेनिकल कीबोर्ड सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला कीबोर्ड है. सामान्य कीबोर्ड में 104 बटन होते है,बटन की संख्या 104 से कम या ज्यादा हो सकती है, कीबोर्ड के प्रकार, आकार और उसे बनाने वाली कंपनी पर बटन की संख्या निर्भर होती है.

अलग अलग बटन के अलग अलग कार्य होते है. कार्य के अनुसार और कीबोर्ड का सरलता से उपयोग करने के लिए इन बटन को अलग अलग समूह में रखा जाता है. कीबोर्ड पर बटन के प्रमुख ५ समूह होते है, हम ये भी कह सकते है की कीबोर्ड के प्रमुख 5 भाग होता है.

  1. टाइपिंग / अल्फान्यूमेरिक कीज
  2. फंक्शन कीज
  3. कंट्रोल कीज
  4. नेविगेशन कीज
  5. न्यूमेरिक कीपैड
  6. इंडिकेटर लाइट
टाइपिंग / अल्फान्यूमेरिक कीज

इस समूह की कीज ज्यादा तर टाइपिंग करने के लिए इस्तेमाल होती है, इसलिए इसे टाइपिंग कीज बोलते है. इसका दूसरा नाम अल्फान्यूमैरिक कीस है, यह नाम दो अक्षर से बनता है अल्फाबेट और न्यूमेरिक. इंग्लिश में अल्फाबेट का मतलब लेटर्स A-Z और न्यूमेरिक मतलब नंबर 0-9. अल्फान्यूमैरिक का हिंदी में मतलब वर्ण-संख्यात्मक है, जिसमे वर्ण और संख्या का उपयोग किया जाता है.

टाइपिंग और अल्फान्यूमेरिक कीज में लेटर, नंबर, विराम चिन्ह और स्पेशल कैरेक्टर / सिंबल ये कीज होती है.

टाइपिंग और अल्फान्यूमेरिक कीज-
लेटर (वर्ण) – A से Z तक
नंबर (संख्या) – 0 से 9 तक
स्पेशल कैरेक्टर / सिंबल (विशेष चिन्ह) – ~, !,@,₹,$,%,^, &,*, -,+,=
पंक्चुएशन (विराम चिन्ह) – . , ? ; : ‘ “- / [ ] ( ) { } ! *

फंक्शन कीज

कीबोर्ड पे ये कीज सबसे ऊपर स्थित होती है. सामान्य कीबोर्ड पर फंक्शन कीज की संख्या १२ होती है लेकिन कुछ कीबोर्ड पे इसकी संख्या १२ से ज्यादा हो सकती है. कंप्यूटर का इस्तेमाल करते समय विशेष कार्य के लिए इस कीज का इस्तेमाल किया जाता है. इस कीज का कार्य अलग अलग एप्लीकेशन, सॉफ्टवेयर, प्रोग्राम, इंटरनेट ब्राउज़र में विभिन्न होता है.

फंक्शन कीज – F1 F2 F3 F4 F5 F6 F7 F8 F9 F10 F11 F12

कंट्रोल कीज

कंट्रोल कीज को मोडीफायर कीज भी कहा जाता है. मोडीफायर मतलब कंट्रोल कीज और दूसरे कीज का एक साथ इस्तेमाल कर के काम करना। उदाहरण, Ctrl + C का उपयोग करके हम कॉपी करते है, यहाँ पे Ctrl मोडीफायर की है और C की के मूल कार्य को मॉडिफाई करता है. कुछ कंट्रोल कीज अकेले काम करती है लेकिन ज्यादातर कीज दूसरे की के साथ काम करती है. Ctrl, Alt और Shift सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाली कण्ट्रोल कीज है, इसलिए सरलता से इस्तेमाल करने के लिए यह कीबोर्ड पर दो जगह होती है.

कंट्रोल / मोडीफायर कीज – Shift, Ctrl, Fn, Windows Logo Key, Alt

नेविगेशन कीज

नेविगेशन कीज, टाइपिंग कीज और न्यूमेरिक पैड के बीच में होती है, इसे कर्सर कीज भी कहते है क्योंकि टाइपिंग करते समय कर्सर को ऊपर, नीचे, आगे और पीछे करने के लिए नेविगेशन कीज का उपयोग होता है. जब हम टाइपिंग करते है तब एक खड़ी रेखा चालू बंद होती है उसे टाइपिंग कर्सर कहते है. टाइपिंग करते समय टाइपिंग कर्सर हमें ये बताता है की हम उस पेज पर कहां पर है. टाइपिंग करते वक़्त इसका बहुत उपयोग होता है. वेबसाइट, डॉक्यूमेंट में ऊपर नीचे जाने के लिए और गेम खेलते समय इस कीज का इस्तेमाल होता है.

न्यूमेरिक कीपैड

न्यूमेरिक कीपैड को नंबर पैड भी कहा जाता है. जैसा कि नाम है न्यूमेरिक मतलब नंबर यानी हिंदी में अंक. यह कीपैड कीबोर्ड पर सबसे दाहिने बाजू में होता है. इस कीपैड की मदद से हम बड़ी आसानी से नंबर टाइप कर सकते है. इस कीपैड पर अंक, गणित के चिन्ह और कुछ दूसरी कीज होती है. इस कीपैड की रचना कैलकुलेटर के रचना जैसी होती है. कुछ छोटे लैपटॉप के कीबोर्ड पर न्यूमेरिक कीपैड नहीं होता है, इस स्थिति में आप अल्फान्यूमेरिक कीज, अल्फाबेट कीज, के ऊपर स्थित नंबर कीज का और गणित के चिन्ह का उपयोग कर सकते है.

इंडिकेटर लाइट

कीबोर्ड पर 3 इंडिकेटर लाइट होती है. यह लाइट कीबोर्ड के दाहिने ओर और न्यूमेरिक कीपैड के ऊपर होती है. इंडिकेटर लाइट हमें ये बताती है की बटन का काम चालू है या बंद है. किसी इंडिकेटर लाइट के चालू होने का मतलब है ही वह विशिष्ट की चालू है और उसका उपयोग करके हम काम कर सकते है.

1) Caps Lock light – Caps Lock की के उपयोग से हम लेटर्स को अप्पर केस (कैपिटल) और लोअर केस (स्मॉल) में लिख सकते है.

लाइट चालू- इसका मतलब है कि, Caps Lock चालू है. हम लेटर्स को कैपिटल में लिख सकते है.
लाइट बंद- इसका मतलब है कि, Caps Lock बंद है. हम लेटर्स को स्मॉल में लिख सकते है.

2) Num Lock light – Num Lock की के उपयोग से हम Numeric Keypad को चालू या बंद कर सकते है.

लाइट चालू – इसका मतलब है कि Numeric Keypad चालू है. हम नंबर को टाइप कर सकते है.
लाइट बंद – इसका मतलब है कि, Numeric Keypad बंद है. हम नंबर को टाइप नहीं कर सकते है.

3) Scroll Lock light – Scroll Lock की के मदद से हम स्क्रोलिंग फंक्शन को चालू या बंद कर सकते हो.

लाइट चालू – इसका मतलब है कि, स्क्रोलिंग फंक्शन चालू है.
लाइट बंद – इसका मतलब है कि, स्क्रोलिंग फंक्शन बंद है.